google.com, pub-9761875631229084, DIRECT, f08c47fec0942fa0
Breakingझारखंड

हाईवा की चपेट में आया बाइक,बाइक चालक जिंदा जल गया,हाईवा और बाइक दोनों वाहन जलकर राख

*हाईवा की चपेट में आया बाइक,बाइक चालक जिंदा जल गया,हाईवा और बाइक दोनों वाहन जलकर राख*

 

 

झारखंड

हजारीबाग-बड़कागांव रोड स्थित इक्विनोक्स प्वाइंट मैदान के पास हाइवा और बाइक के बीच टक्कर हुई। इस टक्कर में बाइक में आग लग गयी,जिससे बाइक सवार जिंदा जल गया। वहीं, कुछ देर में दोनों वाहन धू-धूकर जलकर राख हो गये।बताया जाता है कि बाइक सवार मृतक का शव इतना जल गया था कि लोग पहचान नहीं पा रहे थे।काफी देर बाद स्थानीय लोगों ने बरवाडीह निवासी बुधन साव के 32 वर्षीय पुत्र निर्मल साव के रूप में पहचान की।

 

इस घटना के सम्बंध में मृतक के परिजन एवं प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार,निर्मल साव हर दिन की तरह शुक्रवार की सुबह चार बजे अपनी बाइक से मजदूरी करने हजारीबाग जा रहा था।वहीं,एक हाइवा इक्विनॉक्स प्वाइंट मैदान से बड़कागांव चौक की ओर जा रहा था। इसी दौरान हाइवा की चपेट में बाइक सवार आ गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, दोनों वाहन के टक्कर से बाइक हाइवा के अंदर घुसकर तेल टंकी से जा टकराया,जिससे आग लग गई। वहीं, हाइवा के बैटरी में भी आग लगी।जिससे निर्मल साव एवं उसकी बाइक पूरी तरह जलकर राख हो गया।जबकि, इस हादसे में हाइवा ड्राइवर और खलासी भाग निकला।

 

 

प्रत्यक्षदर्शियों ने यह भी बताया कि हाईवा छरी (गिट्टी) लेकर टंडवा के एनटीपीसी में जा रहा था।इस दौरान इक्विनोक्स प्वाइंट के पास किसी दुकानदार को हाइवा ड्राइवर डीजल देने के लिए हाइवा को रोके हुआ था।डीजल देने के बाद वह मुख्य सड़क की ओर मुड़ ही रहा था कि उसी दौरान बाइक सवार निर्मल साव हाइवा की चपेट में आ गया।

 

इधर स्थानीय लोगों का कहना था कि घटनास्थल पर एनटीपीसी के त्रिवेणी सैनिक अग्निशमन वाहन चार घंटे बाद मौके पर पहुंच कर हाइवा में लगे आग को बुझाया। तब तक मृतक का शव 70 प्रतिशत एवं बाइक पूरी तरह जल चुकी थी।इसके विरोध में आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दिया।ग्रामीणों ने विधायक अंबा प्रसाद एवं उपायुक्त को बुलाने की मांग कर रहे थे। वहीं, मृतक के परिजनों को मुआवजा एवं नौकरी तथा क्षेत्र में हाइवा परिचालन पर रोक लगाने की मांग की गयी।

 

वहीं घटना की सूचना पाकर विधायक अंबा प्रसाद घटनास्थल पर पहुंची।इसके बाद प्रशासन और पीड़ित परिवार और ग्रामीणों के बीच वार्ता हुई।जिसमें पीड़ित परिवार को आपदा प्रबंधन से एक लाख रुपया मुआवजा, विधायक द्वारा 10,000 एवं इंश्योरेंस के माध्यम से 25 लाख रुपये और मृतक की पत्नी खुशबू देवी को त्रिवेणी सैनिक में नौकरी देने का आश्वासन देने के बाद रोड जाम हटाया गया।इस बातचीत में प्रखंड विकास पदाधिकारी जितेंद्र कुमार पांडेय, इंस्पेक्टर नीरज कुमार सिंह, मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष रंजीत मेहता, मुखिया विमला देवी, जिला परिषद सदस्य प्रतिनिधि मोहम्मद इब्राहिम समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button
Close