google.com, pub-9761875631229084, DIRECT, f08c47fec0942fa0
Breakingअपराधगयाबिहार

गया में भीड़ ने तीन चोरों को पीटा, एक की मौत, दो की हालत नाजुक

गया में बुधवार की रात चोरी के आरोप में 3 युवकों की भीड़ ने पिटाई कर दी। इसमें से एक युवक बाबर की गुरुवार को इलाज के दौरान मौत हो गई है। बाकी 2 युवकों साजिद, रुकमद्दीन का मगध मेडिकल कॉलेज में इलाज जारी है। मामला बेलागंज थाना इलाके डीहा गांव का है।

परिवार का कहना है कि साजिश के तहत लड़कों के साथ मारपीट की गई है। बाबर कोलकाता में नौकरी करता था। वो मजदूर लेने के लिए गांव गया था। हालांकि इस मामले में कई तरह की बातें सामने आ रही है। कोई आपसी रंजिश की बात कह रहा है तो कोई संप्रदाय विशेष से भी जोड़ने की कोशिश कर रहा है। पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है।

मौत से पहले बाबर ने पुलिस को बताई पूरी कहानी
मौत से पहले बाबर ने पुलिस आरक्षक बलदेव को पूरी घटना के बारे में बताया था। बलदेव के मुताबिक मौत से पहले बाबर से बयान लिया गया था। उसने बताया था कि वो स्कॉर्पियो से घूमने के लिए रात को साजिद, रुकमद्दीन के साथ गया था। डीहा पुल के पास उतर कर वह खैनी बना रहा था। इसी बीच गांव वाले चोर-चोर कहते हुए आए और तीनों पर जानलेवा हमला बोल दिया। तीनों की जमकर पिटाई की गई।

6 किमी दूर है तीनों का गांव
इधर एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि इस मामले में जांच शुरू कर दी गई है। फिलहाल एक लड़के की मौत हो गई है। बाकी दो का इलाज चल रहा है। घटनास्थल से लड़कों की एक स्कॉर्पियो मिली है। इसके अलावा गाड़ी से कुछ और भी चीजें भी बरामद हुई है।

फिलहाल पीड़ित पक्ष की ओर से कोई आवेदन नहीं आया है। तीनों लड़के डीहा से करीब 6 किलोमीटर दूर कूरी सराय गांव के रहने वाले हैं। उनकी गाड़ी से तीन कारतूस, एक चाकू, एक बम और एक गड़ासा बरामद हुआ है।

चोरी की घटनाओं से परेशान थे ग्रामीण
दरअसल साजिद, बाबर और रुकमुद्दीन तीनों स्कॉर्पियो से डीहा के ओर गए थे। वहीं, डीहा गांव के लोगों का कहना है कि बीते कुछ समय में कई घरों में चोरी की वारदात हो चुकी है। इस वजह से गांव के लोग सतर्क थे। बुधवार की रात को स्कॉर्पियो को गांव वालों ने देखा तो उन्हें शक हुआ। इस पर गांव वालों ने चोर-चोर का शोर मचाया। फिर घेर लिया।

सूत्रों का कहना है कि पकड़े गए तीनों लड़कों ने खुद के बचाव के लिए पहले भागने की कोशिश की। इसके बावजूद वे पकड़े गए।

परिजनों ने हत्या का आरोप बताया
वहीं, मृतक के मामा अफरोज आलम का कहना है कि वारदात को साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। उसका भांजा कोलकाता में एक होटल में काम करता है। वह होटल के लिए मजदूर लाने के लिए गया था। लेकिन, वहां चोरी का इल्जाम लगा कर हत्या कर दी गई है।

Related Articles

Back to top button
Close